Sambhavna Seth’s husband narrated the tragic tale of that night | Sambhavna Seth के पति ने सुनाई उस रात की दर्दनाक दास्तान, कहा- ‘कई हॉस्पिटल वालों ने एंट्री तक नहीं दी’

0
20


नई दिल्ली: भोजपुरी फिल्मों की मशहूर अभिनेत्री संभावना सेठ (Sambhavna Seth) की तबीयत अब पहले से थोड़ी ठीक है. 4 मई की रात उनकी तबीयत अचानक बिगड़ जाने के बाद उनके पति अविनाश द्विवेदी उन्हें हॉस्पिटल ले गए थे. संभावनासेठ टेलीविजन और फिल्मी दुनिया में एक जाना माना चेहरा है क्योंकि वह एक दशक से अधिक समय से दर्शको का मनोरंजन कर रही हैं. उन्होंने ‘बिग बॉस 2’ में भाग लिया और एक चुनौती के रूप में फिर से ‘बिग बॉस 8’ (Big Boss 8) में दिखाई दीं. इसके बाद वह एक ब्लॉगर बन गईं और उनके वीडियो को खूब पसंद किया जाता है. 

Zee News Hindi Digital से बातचीत में अविनाश ने बताया कि अभी संभावना सेठ की तबीयत में पहले से काफी सुधार है. उन्होंने बताया कि उन्हें एलर्जी की समस्या है. संभावना को डस्ट से या पेंट से एलर्जी बहुत जल्दी हो जाता है और फिर वह काफी लंबे समय तक चलता रहता है. दरअसल, संभावना की तबीयत लॉकडाउन से पहले से ही खराब थी. तो इस दौरान अविनाश कई डॉक्टर से अप्वाइंटमेंट लेने की कोशिश की, यहां तक कई हॉस्पिटल में भी बात किया.. ताकि संभावना का अच्छे से ट्रीटमेंट हो सके, लेकिन ऐसा हो नहीं पाया. कोरोना वायरल के कारण उन्हें किसी भी अस्पताल या डॉक्टर से अप्वाइंटमेंट नहीं मिल पाई. इसलिए उन्होंने संभावना को वही दवा फिर से देने लेंगे, जो पहले के ट्रीटमेंट का था. इससे उन्हें थोड़ा आराम जरूर मिला, लेकिन बाद में धीरे-धीरे संभावना के एक कान बंद होने लगे और उन्हें लगातार चक्कर आने लगी.

इसके बाद अविनाश बताते हैं कि उन्होंने 4 मई की रात संभावना की तबीयत अचानक से ज्यादा बिगड़ गई, इसके बाद उन्होंने कई हॉस्पिटल में फोन लगाया, तो कइयों ने फोन ही नहीं उठाया और कइयों ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से हॉस्पिटल बंद है. इसके बाद अविनाश संभावना को लेकर घर से बाहर निकले और अपनी गाड़ी से कई हॉस्पिटल के चक्कर लगाए, जो ओपन थे, लेकिन किसी ने भी उन्हें हॉस्पिटल में एंट्री नहीं दी. आखिरकार वे संभावना को लेकर कोकिला बेन हॉस्पिटल गए जहां, संभावना को सिर्फ 2 मिनट के लिए देखा गया.. इस हॉस्पिटल में कोविड-19 के कारण अविनाश को भी अंदर जाने की अनुमति नहीं दी. यहां भी संभावना की ट्रीटमेंट सही से नहीं हो पाई और हॉस्पिटल वालों ने कहा कि आप सुबह ओपीडी में आकर डॉक्टर से दिखा लीजिएगा.

अविनाश बताते हैं कि वह रात बहुत कठीन भरा था. जब वह सभी जगह से हार गए थे तो संभावना को लेकर घर आ गए थे, फिर दूसरे दिन एक डॉक्टर संभावना को देखने के लिए तैयार हो गईं, फिर उसी डॉक्टर से संभावना का इलाज चला और अभी उनकी तबीयत में पहले से काफी सुधार है. आखिर में अविनाश कहते हैं कि उनके पास सारी सुधिवा होने के वाबजूद उन्हें इतनी परेशानी हुई, तो वह यह अंदाजा लगा रहे हैं कि उन लोगों के साथ क्या गुजर रहा होगा जिनके पास पैसों की दिक्कत है और खुद की गाड़ी भी नहीं है. वह कहते हैं लॉकडाउन के दौरान पिजा ब्वॉय जब घर आ सकता है तो फिर डॉक्टर क्यों नहीं आ सकते?.

एंटरटेनमेंट की और खबरें पढ़ें 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here