Ranveer Singh unveiled several initiatives to help the def community in India!

0
4


नई दिल्ली: सुपरस्टार रणवीर सिंह (Ranveer Singh), इंडियन साइन लैंग्वेज (ISL) को भारत की 23वीं ऑफिशियल लैंग्वेज मानने और घोषित करने के लिए सरकार के अधिकारियों से लगातार अपील कर रहे हैं! इंटरनेशनल डे ऑफ साइन लैंग्वेजेज के दौरान, जो हर साल 23 सितंबर को इंटरनेशनल वीक ऑफ डीफ के साथ दुनिया भर में मनाया जाता है, रणवीर ने इंडियन साइन लैंग्वेज (ISL) को भारत की 23वीं ऑफिशियल लैंग्वेज बनाने के बारे में लोगों के बीच अवेयरनेस बढ़ाने के लिए अपने इंडिपेंडेंट रिकॉर्ड लेबल ‘इन्कइन्क’ (IncInk) के माध्यम से कई इनिशिएटिव शुरू करने की योजना बनाई है! 

हमारे एक सूत्र ने बताया, ‘रणवीर ने हमेशा सोशल इश्यूज पर अपनी आवाज बुलंद की है और उन्होंने ISL को ऑफिशियल लैंग्वेज बनाने के मुद्दे पर लोगों के बीच अवेयरनेस बढ़ाने के लिए हाल ही में एक पिटिशन पर साइन किया हैं. वह 23 सितंबर से शुरू होने वाले ‘इंटरनेशनल वीक ऑफ डीफ’ के दौरान इस मुद्दे पर ज्यादा-से-ज्यादा लोगों को अवेयर करने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने इस मुद्दे पर समाज में बदलाव लाने की जिम्मेदारी अपने कंधों पर ली है.

सूत्र ने आगे बताया, ‘रणवीर ने इसी हफ्ते साइन लैंग्वेज में इन्कइन्क (IncInk) के दो गानों को रिलीज करने की योजना बनाई है. वह डीफ कम्युनिटी के दिल की भावनाओं को लोगों के सामने लाना चाहते हैं और कुछ अलग-अलग इनिशिएटिव के जरिए उनके साथ जुड़ना चाहते हैं, जिसे इस हफ्ते लॉन्च किया जाएगा. इसके जरिए वह देश के लोगों को इस मुहिम से जुड़ने के लिए आगे आने और ISL को देश की ऑफिशियल लैंग्वेज बनाने के लिए एक पिटिशन पर साइन करने की विनती करेंगे. रणवीर युवाओं से भी इस मुहिम से जुड़ने और सहयोग देने का आग्रह करेंगे, जिससे डीफ कम्युनिटी के 10 मिलियन से अधिक लोगों को फायदा होगा.’

इंडियन साइन लैंग्वेज को ऑफिशियल लैंग्वेज बनाने के लिए रणवीर के प्रयासों को देखते हुए, पिछले हफ़्ते ही भारत की डीफ कम्युनिटी के लोगों उन्हें धन्यवाद देने के लिए एक वीडियो बनाया है और तहे दिल से उनकी तारीफ़ की है. रणवीर का उद्देश्य अपने स्टारडम का फायदा उठाते हुए इस मुद्दे पर ज़्यादा-से-ज़्यादा लोगों को अवेयर करना है, ताकि भारत एक प्रोग्रेसिव स्टेप उठा सके और इस लैंग्वेज को पहचान मिल सके.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here