महत्वपूर्ण पर्यटन केन्द्र के रूप में स्थापित होगा धर्म नगरी डोंगरगढ़ – कलेक्टर

DCIM100MEDIADJI_0063.JPG

महत्वपूर्ण पर्यटन केन्द्र के रूप में स्थापित होगा धर्म नगरी डोंगरगढ़ – कलेक्टर

राजनांदगांव 18 सितम्बर 2020।

प्रसाद योजना के तहत डोंगरगढ़ पर्यटन स्थल के लिए चयनित
छत्तीसगढ़ शासन द्वारा 9.52 एकड़ भूमि पर्यटन मंडल को दिया गया
41 करोड़ रूपए की लागत से मोटेल ओपन, ओपन एयर थियेटर, सोलर पॉवर सिस्टम, लैंड स्कैपिंग, मेडिटेशन सेंटर का निर्माण किया जाएगा

धार्मिक पर्यटकों को विश्व स्तरीय सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से प्रसाद योजना के तहत धर्म नगरी डोंगरगढ़ का पर्यटन स्थल के रूप में चयन किया गया है। इसके माध्यम से यहां पर्यटकों के लिए सौन्दर्य, मनोरम दृश्य तैयार किया जाएगा। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा इसके लिए 9.52 एकड़ भूमि पर्यटन मंडल को दिया गया है। जिसके अंतर्गत विभिन्न निर्माण कार्य किए जाएंगे। कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा पर्यटन के लिए प्रस्तावित स्थल का निरीक्षण करने डोंगरगढ़ पहुंचे और यहां की गतिविधियों की जानकारी ली। कलेक्टर श्री वर्मा ने कहा कि इसके निर्माण से छत्तीसगढ़ टूररिज्म को बढ़ावा मिलेगा। पर्यटकों का छत्तीसगढ़ में आवागमन बढ़ेगा, जिससे यह महत्वपूर्ण पर्यटन केन्द्र के रूप में स्थापित होगा।

इस योजना के तहत लगभग 41 करोड़ रूपए की लागत से मोटेल ओपन, ओपन एयर थियेटर, सोलर पॉवर सिस्टम, लैंड स्कैपिंग, मेडिटेशन सेन्टर आदि का निर्माण किया जाएगा। मां बम्लेश्वरी परिसर में लगभग 7.50 करोड़ रूपए की लागत से सीढिय़ों का मरम्मत सुधार, रेलिंग, शेडिंग, बॉयोटायलेट जैसे सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी। इसी तरह प्रज्ञागिरी क्षेत्र में लगभग 3 करोड़ रूपए की लागत से मेडिटेशन सेंटर, बॉयोटायलेट, लाईब्रेरी, कैटिन, सीढिय़ों का मरम्मत कार्य एवं स्तूप निर्माण किया जाएगा। पर्यटकों को आकर्षित करने एवं मनोरंजन की दृष्टि से प्रसाद योजना के तहत निर्माण कार्य किया जाएगा।

इस क्षेत्र के समीप पर्यटकों के लिए एडवेंचर स्पोटर्स भी बनाया गया है तथा परिक्रमा पथ तैयार किया गया है। डोंगरगढ़ के इस क्षेत्र में पर्यटकों के लिए प्राकृतिक सौंदर्य के साथ मनोरंजन के साधन उपलब्ध रहेंगे। इस अवसर पर एसडीएम डोंगरगढ़ श्री अविनाश भोई, सीईओ श्री एलके कचलाम, तहसीलदार श्री अविनाश ठाकुर, नायब तहसीलदार रश्मि दुबे, छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल श्री श्रीनिवास, सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Total Page Visits: 21